Knowledge is everything

Gurudutt

Items 16 to 30 of 178 total

Grid  List 

Set Descending Direction
per page
  1. अस्ताचल की ओर - भाग 2

    अस्ताचल की ओर - भाग 2

    Rs150.00

    हिमालय की सुरम्य घाटी में मार्तण्ड नामक बस्ती में मार्तण्ड भवन के कुछ अन्तर पर नदी के किनारे एक पक्की कुटिया है। कुटिया के बाहर चबूतरे पर मृगचर्म पर पालथी मारे पण्डित शिवकुमार विराजमान थे। सूर्योदय का समय था, पण्डित शिवकुमार सूर्याभिमुख ध्यानस्थ बैठे थे और उदीयमान सूर्य की किरणें उनकी मुख छवि को द्योतित कर रही थीं। Learn More
  2. भगवान भरोसे Currently Under Print

    भगवान भरोसे Currently Under Print

    Rs0.00

    अमर लेखक श्री गुरुदत्त की एक सशक्त कृति पाठकों के लिए प्रस्तुत है। एक सफल लेखक समाज में हो रहे परिवर्तनों को न केवल अपने पात्रों के माध्यम से अत्यन्त रोचक तथा मनोरंजक ढंग से दर्शाता है, साथ ही नित्य उत्पन्न होने वाली नई समस्याओं का समाधान भी प्रस्तुत करता है। कुछ वास्तविक घटनाओं को काल्पनिक पात्रों में गूँथ कर एक रोचक उपन्यास पाठकों के समक्ष रखना सिद्ध करता है श्री गुरुदत्त एक सर्वकालीन लेखक हैं। Learn More
  3. स्वराज्य दान

    स्वराज्य दान

    Rs150.00

    ‘‘भूल जाना मनुष्यता की बात नहीं। मनुष्यों में और अन्य प्राणियों में स्मरण-शक्ति का ही अन्तर है। मनुष्य तो उन्नति कर रहा है किन्तु अन्य प्राणी उन्नति नहीं कर रहे हैं। इसका कारण स्मरण-शक्ति ही है। पूर्व अनुभवों का मनन करके ही Learn More
  4. अद्वैत मीमांसा

    अद्वैत मीमांसा

    Rs60.00

    अद्वैत मीमांसा Learn More
  5. कामना

    कामना

    Rs100.00

    भारतवर्ष की पवित्र व पावन-भूमि पर जन्म लेकर अनेकों साहित्यकारों ने यश व प्रसिद्धि की सीढ़ियां चढ़ीं। और पूरे विश्व में भारत के यश व गौरव को आलोकित किया। Learn More
  6. प्रारब्ध और पुरुषार्थ

    प्रारब्ध और पुरुषार्थ

    Rs80.00

    प्रारब्ध और पुरुषार्थ Learn More
  7. Prerna

    Prerna

    Rs300.00

    Hindi Sahitya Learn More
  8. भारतवर्ष का संक्षिप्त इतिहास

    भारतवर्ष का संक्षिप्त इतिहास

    Rs150.00

    रथम उपन्यास ‘‘स्वाधीनता के पथ पर’ से ही ख्याति की सीढ़ियों पर जो चढ़ने लगे कि फिर रुके नहीं। विज्ञान की पृष्ठभूमि पर वेद, उपनिषद् दर्शन इत्यादि शास्त्रों का अध्ययन आरम्भ किया तो उनको ज्ञान का अथाह सागर देख उसी में रम गये। वेद, उपनिषद् तथा दर्शन शास्त्रों की विवेचना एवं अध्ययन अत्यन्त सरल भाषा में प्रस्तुत कराना गुरुदत्त की ही विशेषता है। Learn More
  9. युद्ध और शान्ति

    युद्ध और शान्ति

    Rs400.00

    भारतीय समाज-शास्त्र में समाज को चार वर्गों में विभक्ति किया गया है। यह विभाजन ईश्वरीय है। Learn More
  10. ब्रह्मसूत्र -In 2 Volumes

    ब्रह्मसूत्र -In 2 Volumes

    Rs300.00

    ब्रह्मसूत्र -2 (A set of two books) Learn More
  11. लालसा

    लालसा

    Rs120.00

    राजा बहादुर की आज्ञा आयी कि भगवती लखनऊ से आने वाली गाड़ी से आ रहे मेहमानों को लाने के लिए स्टेशन पर पहुँच जाये। आज्ञा लाने वाला राजा बहादुर का विशिष्ट सिपाही रामहर्ष रात के दस बजे पहुँचा था और लखनऊ वाली गाड़ी रात के डेढ़ बजे आती थी। उस समय भगवती सो रहा था। आज्ञा उसकी माँ ने प्राप्त की थी। माँ के पास घड़ी तो थी नहीं, इस कारण वह चिन्ता करने लगी कि किस प्रकार वह अपने पुत्र को जगाकर समय पर स्टेशन भेजेगी। Learn More
  12. स्वार्थ

    स्वार्थ

    Rs30.00

    स्वार्थ Learn More
  13. देश की हत्या

    देश की हत्या

    Rs110.00

    उपन्यासकार गुरुदत्त का जन्म जिस काल और जिस प्रदेश में हुआ उस काल में भारत के राजनीतिक क्षितिज पर बहुत कुछ विचित्र घटनाएँ घटित होती रही हैं। गुरुदत्त जी इसके प्रत्यक्षदृष्टा ही नहीं रहे अपितु यथासमय वे उसमें लिप्त भी रहे हैं। जिन लोगों ने उनके प्रथम दो उपन्यास ‘स्वाधीनता के पथ पर’ और ‘पथिक’ को पढ़ने के उपरान्त उसी श्रृंखला के उसके बाद के उपन्यासों को पढ़ा है उनमें अधिकांश ने यह मत व्यक्त किया है कि उपन्यासकार आरम्भ में गांधीवादी था, किंतु शनैः-शनैः वह गांधीवादी से निराश होकर हिन्दुत्ववादी हो गया है। Learn More
  14. खण्ड 6 - स्वाधीनता के पथ पर, पथिक (राजनीतिक श्रृंखला के उपन्यास)

    खण्ड 6 - स्वाधीनता के पथ पर, पथिक (राजनीतिक श्रृंखला के उपन्यास)

    Rs300.00

    स्वाधीनता के पथ पर, पथिक (राजनीतिक श्रृंखला के प्रथम उपन्यास) Learn More
  15. मनुष्य और समाज

    मनुष्य और समाज

    Rs45.00

    मनुष्य और समाज Learn More

Items 16 to 30 of 178 total

Grid  List 

Set Descending Direction
per page